Corona ke lakshan in hindi 2021

Corona ke lakshan in hindi 2021

Corona ke lakshan in hindi 2021

Corona ke lakshan in hindi 2021

Corona ke lakshan in hindi 2021

सभी लोग जानना चाहते है। कोरोना वायरस क्या है। और इसके शुरुआती लक्षण क्या होते है। जानना भी जरूरी है। क्योंकि सतर्कता ही बचाव है। इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप कोरोना के बारे में अच्छे से जान जाएंगे। और जागरूक बनकर अन्य लोगो को भी जागरूक करेंगे।

Corona ke lakshan in hindi 2021

कोरोना वायरस, इस वायरस की शुरुआत पिछले साल चीन के वुहान प्रांत के सीफ़ूड और पोल्ट्री बाजार से हुई  है, और आज यह corona virus दुनिया भर के लिए एक गंभीर बीमारी  बन गयी है | इस कोरोना वायरस, की शुरुवात कैसे  हुई, कैसे बन गयी यह एक ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी, अपने आप और अपने परिवार वालो को कैसे बचा सकते है इस वायरस से, क्या इस वायरस का कोई इलाज है? इन सब प्रश्नो का जवाब और इस वायरस कि पूरी जानकारी जानने के लिए अंत तक पढ़ें |

Corona kya hai corona ke lakshan
Corona ke lakshan in hindi 2021

Corona वायरस के लक्षण एक मामूली ज़ुखाम से लेकर ज़्यादा गंभीर रोगों की वजह हो सकती है जैसे कि मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (Middle East Respiratory Syndrome: MERS-CoV) और सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (Severe Acute Respiratory Syndrome: SARS-CoV) | कोरोना वायरस ज़ूनोटिक (zoonotic) है जिसका अर्थ है पशुजन्य रोग | corona वायरस से इंसान और जानवर दोनों परेशान सकते है | यह वायरस को अभी “SARS-CoV-2” का नाम रखा गया है और इसकि वजह से आने वाली बीमारी को “Corona Disease 2019” जिसका सक्षिप्त नाम “COVID-19” है |

इस वायरस के बारे में सबसे पहले चीन के वुहान प्रांत में पता चला है जिसके बाद कोरोना वायरस करीबन 70 देशों में फैल गई | 23 जनवरी को, चीन कि गवर्नमेंट अधिकारियो ने बाकी देश और दुनिया से वुहान को, जिसकी जनता संख्या करीबन 1 करोड है,

जापान, साउथ कोरिया, थाईलैंड, ताइवान, यूनाइटेड स्टेट्स कि देशों में यह वायरस का प्रवेश और संक्रमण जनवरी के 20 तारीख के बाद हो गया था |

30 जनवरी 2020 को विश्व स्वास्थ्य संगठन ‘WHO’ ने इस वायरस ऑउटब्रेक को सामाजिक स्वास्थ्य इमरजेंसी घोषित कर दिया, जो कि एक अंतर राष्ट्रीय चिंता का कारण है |

Corona ke lakshan in hindi 2021

Corona virus से पीडित जनो के लक्षण, संक्रमित होने के 2 से 14 दिनो के बाद दिखाई देते हैं | यह लक्षण अधिकतर सामान्य होते है और सामन्य रूप मे इनकी उपेक्षा की जाती है | कुछ लोगो के संक्रमित होने के बावजूद, इनमे कोई लक्षण दिखाई नही देते है | कोई लक्षण ना दिखने पर भी ये संक्रमण हो सकते है। आपके शरीर की वायरल लोड (वायरस की संख्या) एक गंभीर लक्षण वाले व्यक्ति के समान हो सकते है। इसका मतलब है कि आप उतना ही संक्रमण के संकट में हैं जितना के COVID-19 के सीरियस पेशेंट हैं। 80 प्रतिशत लोग किसी विशेष इलाज के बिना भी ठीक हो जाते है। यदि आप हाल ही में COVID-19 कन्टेनमेंट ज़ोन से यात्रा करके लौटे हैं, तो आपके साथ साथ उन सभी लोगो को यह संक्रमण हो सकता हैं जो आपके या आपके परिवार के संपर्क में आएं है। ऐसे स्थिति में 14-21 दिन की सेल्फ-क्वारंटाइन (स्वयं संगरोध) में रहना आवश्यक है

Corona ke lakshan in hindi 2021

कोरोना वायरस से पीड़ित लोगो के लक्षण कुछ इस तरह के होते है –

Corona kya hai corona ke lakshan
Corona kya hai corona ke lakshan

तेज बुखार

थकान

सुखी खासी

नाक का बंध होना

बहती नाक

गले में खराश

सांस लेने मे दिक्कत

Corona ke lakshan in hindi 2021

कैसे फैलता है कोरोना वायरस ?

पहले से इस बिमारी से पीडित लोगो से नज़दीकी बनाये रखने से यह वायरस फैलता है |आपने देखा होगा जब किसी व्यक्ति को सर्दी जुकाम होता है। तो उसके करीबी को भी यह समस्या आ जाती है। ठीक यही कंडीशन कोरोना वायरस के फैलने में भी होती है। जब इस बीमारी के मरीज़, के खांसने से या छींकने से आती बूंदों के गिरने के स्थान या वस्तु के साथ संपर्क करके, अपने आँखों को या नाक को या मुँह को छूने से यह वायरस शरीर मे प्रवेश करता है | इन बूंदों को सांस लेने से भी यह वायरस के शिकार बन सकते है | इस बिमारी से प्रभावित लोगो से 1 मीटर (3 feet) दूरी बनाई रखनी चाहिए | अब यह कोरोना वायरस हवा में भी फैल रहा है। आप सभी जानते है। कि वायरस सूक्ष्म होते है। जो आपको दिखाई नही देंगे। यह संक्रमित व्यक्ति छिकता है। तो उसके शरीर से वायरस हवा में उपस्थित हो जाते है। और सांस के द्वारा स्वस्थ व्यकि के शरीर मे जाकर बड़ी तेजी से विस्तारित होते है।

Corona ke lakshan in hindi 2021

आपकी नाक और मुंह अतिसंवेदनशील हैं

2020 की एक रिपोर्ट में बताया गया कि यह कोरोना वायरस गले और शरीर के अन्य हिस्सों की तुलना में आपकी नाक और मुंह में ज़्यादा जाने की सम्भावना होती है। आपके आस-पास की हवा में छींकने, खांसने या सांस लेने की संभावना अधिक हो सकती है। आपको बता दें। कि कोरोना वायरस आपके फेफड़े को प्रभावित करता है।

Corona kya hai corona ke lakshan

यह कोरोना वायरस अन्य वायरस की तुलना में तेजी से शरीर के माध्यम से आंतरिक अंगों को प्रभावित करते है। चीन के डेटा में पाया गया कि लक्षण शुरू होने के 1 दिन बाद ही COVID-19 वाले लोगों के नाक और गले में वायरस का संक्रमण मिला है। सबसे पहले नाक और मुँह में इसका संक्रमण फैलता है। इसके बाद फेफड़े तक पहुचता है।

Corona kya hai corona ke lakshan

क्या मास्क आपको इन्फेक्ट होने से बचा सकता है ?

कोरोना वायरस दुनिया कि सबसे तेज़ी से बढ़ने वाली virus बन गई है | अपने आप को बचाने के लिए आधी प्रतिशत जनता सर्जिकल मास्क पहनने मे उतर गयी है | सेंटर फॉर डिजीज कण्ट्रोल एंड प्रिवेंशन का यह मानना है कि मास्क्स पहनने से इन्फेक्शन का रिस्क कम रहता है लेकिन इस तरीके से पूरी सुरक्षा नही मिलती है | अपने आप को बचाने के लिए यही बेहतर है कि जब आप कोरोना वायरस से पीडित लोग से और जगहों से दूर रहे |

किन लोगो मे यह वायरस ज़्यादा खतरनाक है ? 

बुज़ुर्ग  लोग और हाई ब्लड प्रेशर, दिल कि समस्याएं और मधुमेह के रोगियों मे यह रोग और खतरनाक रूप ले सकता है | इसके अलावा, पहले से ही किसी रोग के मरीज़ या इम्युनिटी कम होने वाले लोगो पर यह वायरस का ज़्यादा आसानी से प्रभाव पड़ता है | जिन्हें अस्थमा है। उन पर भी यह वायरस बहुत जल्दी अटैक करता है।

HIV वैक्सीन कोरोना वायरस को समाप्त कर सकती है

थाईलैंड के कुछ डॉक्टरों का मानना है कि, HIV के इलाज मे इस्तेमाल किये गए दवाओं का मिश्रण कोरोना वायरस का इलाज हो सकता है | इनके अनुसार, इस दवाई के देने  के 48 घंटो मे चौका देने वाली रिकवरी देखने को मिलती है | लेकिन इस मामले को सही मानने के लिए कोई पक्का सबूत अभी तक नही है |

Corona ke lakshan in hindi 2021

किन चीज़ो का पालन करके आप अपने आप को सुरक्षित रख सकते है ?

अपने हाथों को कुछ समय के अंतर नियमित साफ करें। साबुन और पानी का उपयोग करें, या अल्कोहॉल आधारित सैनीटाइज़र से हाथ रगड़ें। इसके अलावा अधिक से अधिक मास्क का प्रयोग करें।

Corona kya hai corona ke lakshan
Corona ke lakshan in hindi 2021

खांसने या छींकने पर अपनी नाक और मुंह को अपनी मुड़ी हुई कोहनी या एक टिश्यू से ढक लें। जिन्हें सर्दी जुकाम है। अगर वे लोग इस वायरस के संपर्क में आएंगे। तो जल्दी से संक्रमित हो सकते है।

COVID-19 से  पीडित लोग से या खांसी या छींकने वाले किसी से भी सुरक्षित दूरी बनाए रखें।

दूर रहे |

अपनी आँखें, नाक या मुंह को न छुएं।

यदि आप अस्वस्थ महसूस करते हैं तो घर पर रहें। अपने बर्तन, गिलास और बेड किसी से शेयर ना करे |

यदि आपको बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई होती है, तो इलाज कराएं।

ज़्यादा इस्तेमाल  करने वाले जगहों को नियमित तरीके से डिसइंफेक्टेंट से साफ़ करते रहे |

अगर आप बीमार है, तो पब्लिक प्लेस से दूर रहे जैसे कि स्कूल, ऑफिस आदि।

अपने स्थानीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के निर्देशों का पालन करें।

डॉक्टर से संपर्क कब करना हैं?

Corona ke lakshan in hindi 2021

कोविड – 19 के संक्रमण गंभीर होने से मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (Middle East Respiratory Syndrome: MERS-CoV) और सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (Severe Acute Respiratory Syndrome: SARS-CoV) संक्रमण हो सकता है। COVID-19 के लक्षण होने पर बाहर निकलने का सलाह नहीं देतें है। यहाँ तक की मेडिकल क्लिनिक या अस्पताल भी ना जाएं। यह वायरस को फैलने से बचाने में मदद करता है। यदि आपके परिवार के किसी सदस्य में संक्रमण के लक्षण दिखने पर डॉक्टर से संपर्क करे। यदि आपके परिवार के किसी सदस्य में संक्रमण के लक्षण दिखने पर नज़दीकी डॉक्टर से फ़ोन पर संपर्क करे, या राज्य के हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करें।

Corona ke lakshan in hindi 2021

परिवर के सदस्यों में कुछ बिमारियों के अतीत आपको गंभीर COVID-19 से संक्रमित होने का संकट में रखता है। यदि आप या आपके प्रियजन में के निम्नलिखित अंतर्निहित स्थिति है, तो COVID-19 के लक्षणों के लिए अतिरिक्त सतर्क रहे, जैसे के-

अस्थमा या अन्य स्वास सम्बंधित की बीमारी (रेस्पिरेटरी डिसीजेस)

मधुमेह (डायबिटीज)

दिल की बीमारी (हार्ट डिसीजेस)

कम प्रतिरक्षा प्रणाली (लौ इम्युनिटी)

ऐसे मामलों में खास सावधानी बरतना ज़रूरी है।

यदि आपके पास COVID-19 के चेतावनी संकेत हैं, तो आपातकालीन चिकित्सा पे ध्यान देने की सलाह दिया जाता है। इसमें शामिल है:

स्वास लेने मे तकलीफ

छाती में दर्द या दबाव

नीले रंग का होंठ या चेहरा

भ्रम की स्थिति

उनींदापन या तंद्रा (जागने में असमर्थता)

इस वायरस के प्रसार को रोकने के लिए रोकथाम रणनीतियों को गंभीरता से लेना बेहद जरूरी है। सुरक्षा निर्देशों का पालन करते हुए अच्छी स्वच्छता का अभ्यास करना, और अपने दोस्तों और परिवार को ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित करना इसके प्रसार को रोकने में एक महत्वपूर्ण रास्ता तय करेगा।

Corona ke lakshan in hindi 2021
कोरोना के बढ़ते आंकड़ों से लोगों में दहशत,  पिछले 24 घंटे में दो लाख से अधिक मामले व 1185 लोगों की मौत

भारत में कोरोना के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। पिछले 24 घंटे में 2 लाख 17 हजार 353 नए मामले सामने आए हैं, अब यह आंकड़ा 3 लाख प्रतिदिन से ऊपर है। जिसके बाद देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 2,42,91,917 हो गई है। वहीं एक्टिव केसों की संख्या 15,69,743 है। जबकि पिछले 24 घंटे में देश में इस बीमारी से 1,18,302 मरीजों के स्वस्थ होने के बाद कुल स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या 1,25,47,866 पहुंच गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार कोरोना से 1,185 और लोगों की मौत होने के बाद कुल मृतकों की संख्या बढ़कर 1,74,308 पहुंच गई है।

Corona ke lakshan in hindi 2021

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि ‘’हम सिस्टम को सुधार करने के लिए लगातार कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमें धैर्य और साहस के साथ काम लेना है। वहीं डॉक्टरों को संबोधित करते हुए कहा कि ड़ॉक्टर परिस्थिति के अनुसार फैसला ले सकते हैं’’।

Corona ke lakshan in hindi 2021

वहीं बढ़ते आंकड़ों को देख यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रत्येक रविवार को पूर्ण लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है। साथ ही उन्होंने सार्वजनिक जगहों पर मास्क न लगाने वालों से पहली बार बिना मास्क के पकड़े जाने पर 1000 रुपये जुर्माना व दूसरी बार पकड़े जाने पर दस गुना जुर्माना वसूलने के निर्देश दिए हैं। वहीं दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने वीकेंड नाइट कर्फ्यू लगा दिया है। उन्होंने यह भी भरोसा दिया कि दिल्ली में बेड की कमी नहीं होने दी जाएगी।

Corona ke lakshan in hindi 2021

बीते दिनों की बात करें, तो 30 मार्च को कुल 53 हजार 480 केस आए थे, जो 31 मार्च को बढ़कर 72 हजार 330 हो गए और 1 अप्रैल को 81 हजार 466 केस के साथ नए रिकॉर्ड पर पहुंच गए। कोविड19 के नए केसेस के 81% मामले जिन 8 राज्यों में सामने आए हैं, उनमें महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, पंजाब, तमिलनाडु, केरल, दिल्ली और उत्तर प्रदेश शामिल हैं। अन्य राज्यों में भी मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है।

Corona ke lakshan in hindi 2021

डबल म्यूटेंट कोविड वेरिएंट ने बढ़ाई चिंता

भारत में वैक्सीनेशन का कार्य प्रारंभ होने के बीच चिंता की एक बात यह भी है कि कोरोना के नए मरीजों में डबल म्युटेंट वायरस भी पाया गया है। दिसंबर 2020 के बाद कोरोना केस में कुछ कमी देखी जा रही थी । परंतु अचानक से इस बीमारी का एक नया स्ट्रेन देखा गया । जिसका असर सबसे पहले महाराष्ट्र और केरल में देखा गया । यह नया स्ट्रेन ज्यादा खतरनाक बताया जा रहा है । अभी तक सामन्या कोरोना से लड़ना मुश्किल हो रहा था और यह नया स्ट्रेन कोरोना का और भी ताकतवर वायरस बताया जा रहा है । आम भाषा में समझा जाए तो वायरस ज्यादा घातक होने के लिए समय के साथ अपनी संरचना को बदलता रहता है।  महाराष्ट्र, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, गुजरात, कर्नाटक, मध्य प्रदेश में डबल म्यूटेंट वायरस मिल रहा है।

Corona ke lakshan in hindi 2021

क्यो चिंताजनक है डबल म्युटेंट वायरस

इस तरह के वायरस में एक चिंता की बात यह भी होती है कि यह इम्युनिटी और दवाओं से लड़ना सीख जाता है। यूके स्ट्रेन के साथ जो बात देखी गई थी, उसका एक म्यूटेशन डबल म्युटेंट वायरस के साथ भी है। यह ज्यादा आसानी से शरीर के अंदर पहुंचकर नुकसान पहुंचाता है। देखने में यह भी आ रहा है कि लोगों में अधिक निमोनिया हो रहा है और युवा भी इसकी अधिक चपेट में आ रहे हैं। एक चिंता की बात यह भी है कि चिकित्सकों के संज्ञान में यह भी आया है कि यह वेरिएंट एंटीबॉडीज को बाईपास करना भी सीख रहा है।

Corona ke lakshan in hindi 2021

नए लक्षणों वाले मरीजों की अधिकता

वर्तमान में कोरोना के कुछ नए लक्षण उभर कर आ रहे हैं जैसे :- जीभ पर धब्बे और सूजन का उभरना , स्किन पर लालिमा , स्किन पर जलन , पाँवों के तलवों में जलन , पैरों के तलवों में सूजन , स्किन एलर्जी , डायरिया , उल्टी दस्त , अपच , पेट में दर्द , बहती हुई नाक , सुखी खांसी , बुखार ।

Corona ke lakshan in hindi 2021

कोरोना के शुरुआती लक्षण :- 

कोरोना वायरस से ग्रसित लोगों में शुरुआती तौर पर लोगों में

• तेज़ बुखार

• खांसी

• जुकाम

• गले में खराश

• सांस लेने  में तकलीफ होना

• तेज़ सर दर्द

कोविड -19 के सामान्य लक्षण :-

कोरोना वायरस के कुछ सामान्य लक्षण है जिनसे सतर्क रहने की बहुत आवश्यकता है ।

• शरीर में दर्द एवं पीड़ा

• गले में खराश

• दस्त लगना

• आँख आना / आँखों में तकलीफ होना

• सरदर्द / तेज़ सरदर्द

• स्वाद या गंध का चला जाना

• त्वचा पर दाने या उंगलियों या पैर की उंगलियों का काटना , चुभन, लालिमा

Corona ke lakshan in hindi 2021

कोरोना वायरस के गंभीर लक्षण :- 

• सांस लेने में कठिनाई या सांस की तकलीफ

• ऑक्सीज़न लेवल का गिरना

• सीने में दर्द या दबाव की शिकायत

• बोलने और चलने-फिरने में परेशानी

• शरीर का टूटने लगना

दिसंबर 2020 के बाद कोरोना केस में कुछ कमी देखी जा रही थी । परंतु अचानक से इस बीमारी का एक नया स्ट्रेन देखा गया । जिसका असर सबसे पहले महाराष्ट्र और केरल में देखा गया । यह नया स्ट्रेन ज्यादा खतरनाक बताया जा रहा है । अभी तक सामन्या कोरोना से लड़ना मुश्किल हो रहा था और यह नया स्ट्रेन कोरोना का और भी ताकतवर वायरस बताया जा रहा है ।

Corona kya hai corona ke lakshan
वर्तमान में कोरोना के लक्षण :-

वर्तमान में कोरोना के कुछ नए लक्षण उभर कर आ रहे हैं जैसे :- जीभ पर धब्बे और सूजन का उभरना , स्किन पर लालिमा , स्किन पर जलन , पाँवों के तलवों में जलन , पैरों के तलवों में सूजन , स्किन एलर्जी , डायरिया , उल्टी दस्त , अपच , पेट में दर्द , बहती हुई नाक , सुखी खांसी , बुखार ।

वैक्सिनेशन से ही बचाव संभव

भारत ने कोरोना की रोकथाम के लिए बहुत काम किया है । भारत ही अकेला ऐसा देश है जिसने कोरोना की वैक्सीन को न सिर्फ डेवलप किया बल्कि दूसरे देशों को भी वैक्सीन उपलब्ध करवाया है । भारत ने अभी तक 2 वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सीन डेवलप किया है और अब भारत 5 और वैक्सीन्स पर काम चल रहा है । 16 जनवरी 2021 से भारत में वैक्सीनेशन का काम जारी है । इन दोनों वैक्सीन्स को आपतकालीन वैक्सीन की मंजूरी मिल चुकी है । भारत में अब 45 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को टिका लगाया जाएगा। वहीं 12 अप्रैल 2021 तक भारत में 10,45,28,565 लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई जा चुकी है जो देश की कुल आबादी का साढ़े सात फीसदी हिस्सा है।

विदेशी वैक्सीन की जरूरत क्यों 

कोरोना की नई लहर खासी संक्रामक मानी जा रही है और सरकार और  विशेषज्ञों का कहना है कि संक्रमण से बचाव के लिए जल्द से जल्द बड़ी आबादी का टीकाकरण होना सुनिश्चित है। फिलहाल देश में देसी वैक्सीन में कोवैक्सिन और कोविशील्ड हैं लेकिन उनका उत्पादन इतनी बड़ी आबादी का तेजी से टीकाकरण करने को पर्याप्त नहीं है। यही देखते हुए अब विदेशी वैक्सीन को मंजूरी मिल रही है।

जॉनसन एंड जॉनसन की पहल

इस बीच जॉनसन एंड जॉनसन ने भी भारत को अपने टीके देने में दिलचस्पी दिखाई है और सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन (CDSCO) से इस बारे में बात की। वो चाहता है कि जल्द से जल्द देश में वो अपने क्लिनिकल ट्रायल शुरू कर सके।  इस वैक्सीन की खासियत यह है कि ये सिंगल डोज है, जबकि बाकी सारी वैक्सीन दो डोज में दी जा रही हैं।

सतर्कता बनाए रखना जरुरी

यह बिल्कुल ना सोचें कि कोरोना खत्म हो गया है। साथ ही जिन लोगों ने वैक्सीन लगवा ली है, वह भी मास्क का उपयोग जारी रखें और सोशल डिस्टेंसिंग सहित अन्य नियमों का पालन करें।

Corona kya hai corona ke lakshan
नोट:- यह जानकारी आपको कैसी लगी। कॉमेंट करके जरूर बताइये। कोरोना का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में सभी को सतर्क होना जरूरी है। इस जानकारी को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।
जय हिंद जय भारत

One thought on “Corona ke lakshan in hindi 2021

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *